Tuesday, January 31, 2012

जरा रूठ जाने पे इतनी खुशामद
वसी तुम बिगाड़ोगे आदत किसी की..वसी शाह

No comments:

Post a Comment