Sunday, March 18, 2012

जो देखने में बहुत ही क़रीब लगता है
उसी के बारे में सोचो, तो फ़ासिला निकले - वसीम बरेलवी

No comments:

Post a Comment