Wednesday, May 16, 2012

ऐसे चुपचाप ही मर जाते हैं कुछ लोग यहाँ
उनको दफ़नाने की ज़हमत भी नहीं उठानी पड़ती.. गुलज़ार

No comments:

Post a Comment